Complete BlogSpot SEO Setting Tutorial

अगर आपने भी ब्लॉगर (Blogger) ब्लॉग स्पॉट (Blogspot) की फ्री ब्लॉग्स (Free Blog) पर अपनी वेबसाइट या ब्लॉग बना रखा है| तो यह पोस्ट (Blog Post) आपकी बहुत ही काम आ सकता है| अगर आपका ब्लॉग है वेबसाइट रैंक नहीं कर रही या गूगल सर्च इंजन में अच्छी तरह से पढ़ Perform नहीं कर रही| तो यह ब्लॉग (Blog) आपके बहुत काम आ सकता है| आज मैं आपको बताऊंगा ब्लॉगर ब्लॉग ब्लॉग स्पॉट के सेटिंग (Blogspot Deshbord Setting) वाले ऑप्शन की सारी डिटेल में आपको बताऊंगा| कैसे आप अपने ब्लॉग को सर्च इंजन (Search Engine) में Rank करा सकते हैं| और जो भी इंपॉर्टेंट चीजें हैं जो आपको नहीं मालूम तो आप या Post पूरा पढ़िए| अगर आपको यह ब्लॉग Post पसंद आए तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर कीजिए| चलिए शुरुआत करते हैं|

Complete BlogSpot SEO Setting Tutorial

Settings

Basic

सेटिंग में सबसे पहला ऑप्शन बेसिक का आता है| बेसिक Setting में आपके ब्लॉग का टाइटल नेम (Blog Title) और ब्लॉक का मेटा डिस्क्रिप्शन (Blog Meta Discription) आप Edit कर सकते हैं या चेंज कर सकते हैं| यह सारी चीजें आप यहां से कर सकते हैं| यहां से आप अपने ब्लॉग वेबसाइट की प्राइवेसी सेटिंग (Privacy Setting) भी कर सकते हैं| कि आपको अपना ब्लॉग या वेबसाइट सर्च इंजन में विजिबल (Visible or Not Visible) करना है या नहीं करना| यह आप यहां से डिसाइड कर सकते हैं|

Publishing

पब्लिशिंग में आप अपने ब्लॉग ऐड्रेस (Blog Address) को चेंज कर सकते हैं| यानी एडिट कर सकते हैं| इसके अलावा अगर आपने अलग से एक कस्टम डोमेन नेम (Custom Domain) रजिस्टर्ड करा रखा है| तो आप यहां पर उस कस्टम डोमेन (Use Custom Domain in Blogger) को लगा भी सकते हैं| जिससे कभी भी आपकी वेबसाइट कोई भी देखेगा या खोलेगा तो उसे केवल कस्टम Domain जो आपका Hai उसके आगे डॉट कॉम लगा हुआ दिखेगा| आप चाहे तो कभी भी कस्टम डोमेन नेम (Remove Custom Domain) को हटा भी सकते हैं| और कोई दूसरा कस्टम Domain भी लगा सकते हैं| यह Sara चेंज आप कितनी बार भी कर सकते हैं| आपके ब्लॉग (Blog) ya वेबसाइट (Website) पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा|

HTTPS

यहां पर आप अपने ब्लॉग वेबसाइट का Https चेंज कर सकते हैं| यहां पर केवल दो ही ऑप्शन है एचटीटीपीएस (HTTPS) रीडायरेक्ट के यस या नो यस कर देते हैं| तो Https (Redirects) रीडायरेक्ट ऑन हो जाएगा ठीक है| वैसे यह बाय डिफॉल्ट नो (No) रहता है|

Mi 10000mAH Li-Polymer Power Bank 2i (Black): https://amzn.to/2OGbfN5

Permissions

परमिशन में आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट में काफी सारे ऑथर्स (Blog Authors) जोड़ सकते हैं| और काफी सारे एडमिन (Blog Admin) और एडिटर जोड़ सकते हैं| यानी आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट को किसी दूसरे के साथ शेयर (Share Blog) कर Sakte हैं| यहां पर दूसरा Admin भी यहां पर Blog Post लिख सके एडिट कर सके या डिलीट कर सके| तो आप यहां पर उसका नाम शेयर कर सकते हैं| शेयर करने के लिए आपको जिसे भी जोड़ना है उसकी ईमेल आईडी (Email Invititation) पता होनी चाहिए| आप एक रिक्वेस्ट भेजेंगे वह रिक्वेस्ट Accept करेगा तो वह भी Apke ब्लॉग या वेबसाइट का पार्टनर बन जाएगा|

SanDisk 32GB SDHC Memory Card with Adapter: https://amzn.to/2OHgJXR

इसी में दूसरा ऑप्शन है Blog Reader का जिसको हमेशा पब्लिक रखना चाहिए| यानी आपका ब्लॉग कोई भी सर्च कर सकता है कोई भी देख सकता है| तो यह सारी चीजें आप यहां से कर सकते हैं| अगर आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट को प्राइवेट करना चाहते हैं| क्योंकि अगर आप चाहते हैं कि आप ने जिस जिस को पार्टनर बनाया है या जिसको शेयर किया है| केवल वही लोग इस ब्लॉग वेबसाइट को देखें| तो आप प्राइवेट (Blog Privacy Private) कर सकते हैं| या आप चाहते हैं कि कुछ स्पेशल पर्सन ही इस ब्लॉग वेबसाइट को Read Kare तो आप यह प्राइवेट वाला ऑप्शन यूज कर सकते हैं|

Technsocial Video

Posts, Comments and Sharing

पोस्ट (Post), कमेंट (Comments) एंड शेयरिंग (sharing) वाले ऑप्शन इसमें पोस्ट वाले ऑप्शन में आप अपने ब्लॉग वेबसाइट के फ्रंट पेज (Front Page ya Main Page) पर कितने सारे पोस्ट दिखाना (Show) चाहते हैं| यह डिसाइड कर सकते हैं| अगर आप अपने Main Page पर केवल एक पोस्ट दिखाना चाहते हैं तो आप एक यूज कर सकते हैं| अगर आप 10 दिखाना चाहते हैं तो 10 Select कर सकते हैं| ब्लॉगर ब्लॉग स्पॉट में हर एक पोस्ट के लिए आप अलग टेंप्लेट (Templets for Individual Post) यूज कर सकते हैं| चाहे तो कस्टम टेंप्लेट (Custom Templets) भी यूज कर सकते हैं हर ब्लॉग पोस्ट के लिए| वह यहीं से होगा| Showcase Image with Light Box आप हमेशा बाय डिफॉल्ट रखिए|

Comments

कमैंट्स वाले ऑप्शन में कमैंट्स की लोकेशन (Comment Location) एड कर सकते हैं| किस तरह के लोग आपको कमेंट करें यह आप यहां से डिसाइड कर सकते हैं| जैसे कि without id के कोई भी अगर कमेंट करें तो उसे Enable सिलेक्ट कर दीजिए| तो कोई भी आपको कमेंट कर देगा बिना किसी ईमेल आईडी के| दूसरा ऑप्शन है यूजर विद गूगल अकाउंट (User With Google Account) यानी जिनका गूगल अकाउंट है| केवल वही लोग कमेंट करें| तीसरा ऑप्शन है ओन्ली मेंबर ऑफ दिस ब्लॉग (Only Member Of This Blog) यह आप अपनी मर्जी से Choose कर सकते हैं| वैसे तो बाय डिफॉल्ट यूजर विद गूगल अकाउंट्स होता है|

कमैंट्स Moderation में आप तीन ऑप्शन में से कोई भी ऑप्शन यूज कर सकते हैं| ऑप्शन है ऑलवेज (Always), सम टाइम (Sometime), नेवर (Never) Yani जब भी कोई कमेंट करेगा| तो अगर आपने ऑलवेज  किया है तो सबसे पहले आपको Comment रिव्यू के लिए दिखाएगा| जब आप इसको अप्रूव करेंगे कमेंट को तभी आपके पोस्ट पर वह किसी Visitor को शो करेगा|

Email

ई-मेल वाले ऑप्शन में आप अपने पोस्ट को ईमेल के थ्रू भी पब्लिश्ड (Publish By Email) कर सकते हैं| बाय डिफॉल्ट यह वाला ऑप्शन डिसेबल्ड (Disabled) रहता है| लेकिन आप इसे अनेबल कर सकते हैं Aap ईमेल करके आप अपने पोस्ट को ईमेल के द्वारा भी पब्लिश्ड कर सकते हैं|

Language and Formatting

Language

Agar आपने अपना ब्लॉग इंडिया में बनाया है| तो बाय डिफॉल्ट इंग्लिश यूके रहता है लैंग्वेज ऑप्शन| इसे आप कोई भी लैंग्वेज यूज कर सकते हैं| यहां तक कि आप हिंदी भी यूज कर सकते हैं आपको इसके ऊपर क्लिक करना है| तो आपको काफी सारी लैंग्वेज दिखाई देंगी आप किसी एक को सेलेक्ट कर लीजिए| यहां पर अगर आपने इंडिया में ye Blog बनाया है तो बाय डिफॉल्ट इंग्लिश से हिंदी का ट्रांसलेशन ऑप्शन रहता है| लेकिन आप चाहे तो हिंदी की जगह किसी और भी लैंग्वेज में ट्रांसलेशन कर सकते हैं| यहां पर Kafi Sari लोकल लैंग्वेज भी दी गई है|

Formatting

फॉर्मेटिंग me टाइम जोन (Time Zone), डेट (Date) और टाइम (Time) किस तरह से शो हो यह सारी चीजें डिसाइड करते हैं| यहां से आप अपना टाइम जोन जिस भी एरिया में आप रहते हैं वहां का जो टाइम जोन है| वह सिलेक्ट कर लीजिए और डेट फॉरमैट सिलेक्ट कर लीजिए| और टाइमिंग सिलेक्ट कर लीजिए| जिस तरह का भी आप चाहते हैं| सबसे लास्ट में आपको दिख जायेगा कि आपके पोस्ट पर इस तरह का डेट Time आएगा| यहां से आप कितनी बार भी Date Formate चेंज कर सकते हैं| 

Search Preference

Meta Tags

Meta Tags वाला ऑप्शन बहुत ही इंपॉर्टेंट है आपके ब्लॉग और वेबसाइट की ग्रोथ (Website growth) के लिए| यहां पर की गई कोई भी गलती आपके ब्लॉग (Blog) या वेबसाइट (Website) पर नेगेटिव इफेक्ट (Negative effects) डाल सकती है| सबसे पहले Meta Discription आता है जो बाय डिफॉल्ट डिसएबल (Disable) रहता है| आपको सबसे पहले इसे अनेबल कर लेना चाहिए| एडिट करके अनेबल करने पर आप अपने ब्लॉग Ya वेबसाइट आपकी जिस चीज के लिए है| उसे बड़े कम शब्दों में यानी एक लाइन (Blog Tag Line) में बताना है|

जैसे कि मेरी वेबसाइट ब्लॉगिंग से रिलेटेड टिप्स (Blogging Tips) के लिए है| तो मैं अपनी वेबसाइट का एक टैग लाइन डाल दूंगा “हिंदी में सीखें ब्लॉगिंग टिप्स एंड ऑनलाइन अर्निंग” यह मेरा Meta Tag हो गया| ऐसे ही आप कुछ Tag Ya Keyword सेलेक्ट कर सकते हैं Apni Website Ke Liye. जैसे कि आपकी अगर Blog स्मार्टफोन से रिलेटेड है| तो आप डाल सकते हैं “लेटेस्ट स्माटफोन ब्लॉग”, जो भी आप एक टैग लाइन डालना चाहते हैं वह डाल सकते हैं| जो आपके प्रोडक्ट की or पोस्ट या ब्लॉग को डिफाइन करें|

Errors and Redirections

Errors एंड रीडायरेक्शन (Redirection) वाला ऑप्शन आपके बहुत काम का ऑप्शन होता है| इसमें आप 404 पेज ya 403 पेज सेटिंग कर सकते हैं| आपको सिंपल सी भाषा में बता दूं कि इसमें 404 No Page Found सेटिंग होती है| यानी आपने बहुत सारे ब्लॉग पोस्ट लिखें और फिर बाद में उसे डिलीट कर दिया| तो उसका जो एड्रेस और लिंक होता है वह गूगल सर्च इंजन (Google Search Engine) में रह जाता है| जब भी कोई Visitor उस पर क्लिक करता है तो एक वेबसाइट खुलती है और वहां दिखाता है पेज नॉट फाउंड (404 Page Not Found). यहां पर आप उस पेज नॉट फाउंड की जगह कोई अच्छा सा मैसेज लिख सकते हैं| जैसे कि रीड मोर रिलेटेड आर्टिकल ऑन दिस वेबसाइट (Click for Read More Related Post) या आप कोई अच्छा सा वॉलपेपर लगा के बनाकर वहां पर लगा सकते हैं|

जिससे कोई भी उस पर क्लिक करेगा तो उसे Page नॉट फाउंड नहीं बताएगा| उसे वॉलपेपर दिखाई देगा| उस वॉलपेपर पर आप कुछ भी लिख दीजिए| इसके अलावा आप इस पेज की जगह डायरेक्टर अपनी वेबसाइट पर भी Visitor Ko को ले जा सकते हैं| जहां पर वह उस से रिलेटेड काफी सारे आर्टिकल दूसरे पढ़ लेगा| इसमें दो सेटिंग है कस्टम पेज नॉट फाउंड सेटिंग (Custom Page Not Found) और कस्टम रीडायरेक्ट (Cutom Redirect) सेटिंग यानी Page नॉट फाउंड की जगह वॉलपेपर लगा दीजिए| और अगर नहीं लगाना चाहते तो आप उसे किसी दूसरे पोस्ट पर Reडायरेक्ट कर दीजिए|

Crawlers and Indexing

Crawl and इंडेक्सिंग सेटिंग इसको बहुत ही वार्निंग के साथ यूज़ करना चाहिए| क्योंकि इसके गलत यूज़ या गलत एंट्री से आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर बहुत बुरा नेगेटिव इफेक्ट (Negative effect) पड़ेगा| इसलिए इसके नीचे ब्लॉग स्पॉट (BlogSpot) वार्निंग देता है| इसमें तीन ऑप्शन है गूगल सर्च कंसोल (Google Search Console), कस्टम रोबोट एक्स (Custom Robotx), कस्टम रोबोट (Cutom Robot) यह Feature मुख्य रूप से गूगल सर्च इंजन इंडेक्स (Google Search Engine Index) होने के लिए बनाया गया है| बाय डिफॉल्ट यह डिसएबल Hota है| आपको इसे अनेबल (Enable) जरूर कर लेना चाहिए| अगर आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग की ग्रोथ (Blog Growth) चाहते हैं या सर्च इंजन में रैंक (Blog Rank) करना चाहते हैं| तो इसको अनेबल जरूर कर लीजिए|

Monetization

मोनेटाइजेशन कस्टम एड्स इस को ऑन कर लीजिए बाय डिफॉल्ट Yah Disable रहता है| आपको इस पर क्लिक करके इसे अनेबल कर लेना है|

Import & Backup

Import & Backup सेटिंग मैं आप अपने किसी दूसरे Blog के डाटा को इंपोर्ट कर सकते हैं| इस ब्लॉग में या इस ब्लॉक का पूरा बैकअप (Blogger Blog Backup) ले सकते हैं| अगर आपके ब्लॉग पर वीडियो भी है तो आप उसका बैकअप भी ले सकते हैं| और अगर वर्ल्ड प्रेस (WordPress) या किसी दूसरे सीएमएस Blog CMS पर जाना चाहते हैं| तो आप इस बैकअप (Blog Backup) का इस्तेमाल वहां पर कर सकते हैं|

Delete Blog

डिलीट ब्लॉग में आप अपने पूरे ब्लॉग को 1 सेकंड में डिलीट (Blogger Blog Delete) कर सकते हैं| दोस्तो डिलीट करने के बाद आपका ब्लॉग दोबारा से रिकवर नहीं होगा| या दोबारा से रिस्टोर नहीं हो सकता| इसीलिए इस ऑप्शन का बड़े ही ध्यान से Use कीजिए|

Site Feed

साइट Feed ko फुल On कर दीजिए और इसकी जितनी भी सेटिंग है जो ka Tyo रहने दीजिए| इसके बारे में मैं कोई अलग से Blog Post बनाऊंगा तब आपको बताऊंगा|

Adult Content

एडल्ट कंटेंट बाय डिफॉल्ट यह No रहता है| लेकिन अगर आपके वेबसाइट पर कोई भी अडल्ट कंटेंट है पूरी वेबसाइट पर एक पोस्ट भी अगर एडल्ट कंटेंट है| तो आपको इसे Yes कर देना चाहिए| वरना आपकी वेबसाइट की रैंकिंग और Adsense मोनेटाइजेशन पर काफी फर्क पड़ जाएगा|

Google Analytics

लास्ट में अगर आप गूगल Analytics यूजर है या आपने गूगल एनालिटिक्स (Google Anylytics) पर अपना आईडी बना रखा है| तो आप वहां से aap Blog Property आईडी है वह यहां पर Paste कर दीजिए| उसके बाद आपको सिर्फ सेटिंग (Save Settings) कर लेना है| आप जितनी भी चीजें करेंगे उसके लिए Save सेटिंग जरूर कर लीजिए वरना कोई भी चेंज Apply नहीं होंगे|

User Settings

Other यूजर सेटिंग (User Settings) में ज्यादा कुछ नहीं है| यहां पर आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए एक लैंग्वेज सेट कर सकते हैं| प्रेफरेंस में वैसे तो सभी लैंग्वेज को यह सपोर्ट करता है| लेकिन आप अपनी वेबसाइट अगर हिंदी में है तो हिंदी जरूर सेलेक्ट कर लीजिए|

दोस्तों सबसे इंपॉर्टेंट में बात बता दूं कि आपने जितनी भी ऊपर चेंज (Setting Change) किए हैं| बिना सेव सेटिंग किए हुए मत जाइए वरना कोई भी चेंज सेव (Save) नहीं होगा| इसलिए सेव सेटिंग पर जरूर लास्ट में क्लिक कर दीजिए| अगर यह पोस्ट आपको पसंद आया है तो सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें और अगर आप मेरे Technsocial यूट्यूब चैनल को देखना चाहते हैं| तो यहां पर क्लिक करें थैंक यू दोस्तों|

(Visited 27 times, 1 visits today)

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *